सांचो थारो दरबार सेवक आयो थारे द्वार भजन लिरिक्स

0
237
बार देखा गया
सांचो थारो दरबार सेवक आयो थारे द्वार भजन लिरिक्स

सांचो थारो दरबार,
सेवक आयो थारे द्वार,
बाबा ध्यान रखना,
सांचो थारो दरबार।।



घुमयो सारी दुनिया,

मिलयो न कोई साथी,
जो कवे अपना,
संता से सुनी है,
सांचो है एक साथी,
श्री श्याम अपना,
श्री श्याम अपना,
जग झूठा सपना,
साँचो थारो दरबार,
सेवक आयो थारे द्वार,
बाबा ध्यान रखना,
सांचो थारो दरबार।।



बाबा थारो टाबर,

बड़ो ही दुखियारों,
सतावे है जहाँ,
थे ही मेरा सबकुछ,
पिता और माता,
मैं जाऊंगा कहाँ,
मैं जाऊंगा कहाँ,
बस रहूँगा यहाँ,
साँचो थारो दरबार,
सेवक आयो थारे द्वार,
बाबा ध्यान रखना,
सांचो थारो दरबार।।



लाखा का बढाया हाँ,

मेरा भी सवारोंगा,
कारज जरुर,
मेरी छोटी नैया,
खावे है हिचकोला,
ओ मेरे हजूर,
माफ़ करना कसूर,
साँचो थारो दरबार,
सेवक आयो थारे द्वार,
बाबा ध्यान रखना,
सांचो थारो दरबार।।



फूला से सजवा,

थारी या फुलवारी,
पधारो रे घनश्याम,
भगता बीच बेठो,
सुनो थे से के की अर्जी,
जो लेवे थारो तेरा नाम,
श्री श्याम श्याम श्याम,
साँचो थारो दरबार,
सेवक आयो थारे द्वार,
बाबा ध्यान रखना,
सांचो थारो दरबार।।



सांचो थारो दरबार,

सेवक आयो थारे द्वार,
बाबा ध्यान रखना,
सांचो थारो दरबार।।

Singer : Sanju Sharma


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम