श्याम दीवानों ने श्याम के प्यार में ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया

0
7406
बार देखा गया
श्याम दीवानों ने श्याम के प्यार में ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया

श्याम दीवानों ने,
श्याम के प्यार में,
ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया।।

तर्ज – मेरे रश्के क़मर


श्याम दीवानों ने,
श्याम के प्यार में,
ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया,
चाँद के साये में,
ऐ मेरे सांवरे,
ऐसी मस्ती पिलाई मजा आ गया।।


हर एक भक्त तो आज मदहोश है,
ये तेरी ही नजर का तो सब दोष है,
तेरे भजनों में हम ऐसे खो से गए,
तूने नजरे मिलाई मजा आ गया,
श्याम दीवानो ने,
श्याम के प्यार में,
ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया।।


देखो बाबा भी नज़रे मिलाने लगा,
देखकर हमको वो मुस्कुराने लगा,
देखा हमनें उन्हें मुस्कुराते हुए,
फिर गर्दन झुकाई मजा आ गया,
श्याम दीवानो ने,
श्याम के प्यार में,
ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया।।


आज खाटु में आना सफल हो गया,
हम दीवानो को अब श्याम मिल ही गया,
उसने हाथो से ‘गिन्नी’ मेरे माथे पर,
ऐसे उंगली फिराई मजा आ गया,
श्याम दीवानों ने,
श्याम के प्यार में,
ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया।।


श्याम दीवानो ने,
श्याम के प्यार में,
ऐसी महफ़िल सजाई मजा आ गया,
चाँद के साये में,
ऐ मेरे सांवरे,
ऐसी मस्ती पिलाई मजा आ गया।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम