तेरी जय हो भोलेनाथ तेरा डम डम डमरू बाज रहा भजन लिरिक्स

0
762
बार देखा गया
तेरी जय हो भोलेनाथ तेरा डम डम डमरू बाज रहा

तेरी जय हो भोलेनाथ,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
सारा जग डमरू पे नाच रहा,
तेरी जय हो भोलेनाथ,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा।।

तर्ज – अनोखी थारी झांकी।



ओ नीलकंठ ओ त्रिपुरारी,

ओ शिवनन्दी के असवारी,
जटा गंग है, जटा गंग है,
जटा गंग है गंगा मात,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
तेरी जय हो भोले नाथ,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा।।



तन भस्मी रमाए रहता तू,

बस ध्यान लगाए रहता तू,
तीनो लोको में, तीनो लोको में,
तीनो लोको में तेरी करामात,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
तेरी जय हो भोले नाथ,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा।।



प्रभु ‘चोखानी’ तेरी शरण पड़ा,

कर जोड़ के ‘शर्मा’ द्वार खड़ा,
मेरे सर पे, मेरे सर पे,
मेरे सर पे रख दो हाथ,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
तेरी जय हो भोले नाथ,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा।।



तेरी जय हो भोलेनाथ,

ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा,
सारा जग डमरू पे नाच रहा,
तेरी जय हो भोलेनाथ,
ओ नाथ,
तेरा डम डम डमरू बाज रहा।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम